योगी सरकार ने जनता से कहा था की वो अपने कार्यकाल में कानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त करेंगे और माफियाओ को सबक भी सिखाएंगे , इसी बात को साबित करते हुए योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में यूपी पुलिस द्वारा बदमाशों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। फिर चाहे वो पुलिस वालो का तबादला हो या फिर अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजना हो , यूपी पुलिस हर कोशिश कर रही है की यूपी में अपराधों का सिलसिला सबसे काम हो जाये और जनता पुलिस पर अपना पूरा विश्वास बनाये रखे।

बता दे की, 35 दिन पहले आईपीएस रोहन पी बोत्रे को गाजीपुर का एसपी बनाया गया था। अपने 35 दिन के कार्यकाल में एसपी रोहन, माफिया मुख्तार अंसारी के काले समाज को उखाड़ फेंकने में कोई कसर नहीं छोड़ी। पहले मुख्तार अंसारी के भाई और अब पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी की पत्नी की संपत्ति को पुलिस ने कुर्क किया है। जिसकी कीमत करीब 2.25 करोड़ रुपये बताई जा रही है। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में ये कार्रवाई की गई।

जानकारी के मुताबिक, गाजीपुर पुलिस द्वारा यह कार्रवाई सदर कोतवाली इलाके के गोराबाजार में हुई है। जहां एसपी रोहन पी बोत्रे और एसडीएम सदर के नेतृत्व में गोराबाजार स्थित एक प्लाट के साथ 2 और प्लाट को भारी फोर्स के साथ डुगडुगी पीटकर कुर्क किया गया है। गैंग लीडर मुख्तार अंसारी की पत्नी के नाम अवैध धनार्जित कर प्रॉपर्टी को अपने नाम ट्रांसफर किया गया था। ऐसे में जिलाधिकारी गाजीपुर के आदेश पर धारा 14 (1) के तहत ये संपत्ति कुर्क की जा रही है। इस दौरान जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ भारी संख्या में पुलिसबल मौजूद रहा।

गौरतलब है कि एसपी रोहन के नेतृत्व में गाजीपुर पुलिस मुख्तार अंसारी और उनके परिवार की पिछले माह से अब तक कुल तकरीबन 23 करोड़ की संपत्ति कुर्क की जा चुकी है। दो दिन पहले भी पुलिस प्रशासन ने मुख्तार अंसारी की पत्नी की करीब 50 लाख रुपये की अवैध संपत्ति को कुर्क किया था। ये सिलसिला एसपी रोहन के आने के बाद से लगातार चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.