स्वतंत्रता दिवस पर पहले यूपी पुलिस हुई टाइट और अब दिल्ली पुलिस भी अपनी कमर कसती दिख रही है। वैसे तो ऐसे मौके पर पुलिसकर्मी हमेसा से ही सख्त है लेकिन इस बार हर बार से ज्यादा सख्त नज़र आ रहे है ऐसा इसलिए हुआ क्योकि इस बार स्वतंत्रता दिवस कुछ खास ही है, ऐसा इसलिए माना जा रहा है क्योकि आज़ादी का 75वा दिवस है इसलिए दिल्ली के साथ साथ पुरे देश में आज़ादी का अमृत मोहत्सव बहुत ही धूम धाम से मनाया जा रहा है और साथ ही नरेंद्र मोदी के द्वारा जलाया गया ‘हर घर तिरंगा ,घर घर तिरंगा’ आयोजन में भी लोग बड़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है और साथ ही कई आयोजन भी किये जा रहे है इसी को देखते हुए दिल्ली पुलिस द्वारा एहतियात भी बरती जा रही है। जानकारी के अनुसार, इस मौके पर 10 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात करने की तैयारी की जा रही है।

इसके साथ ही विशेष तौर पर एरियल आब्जेक्ट्स को भी नियंत्रित करने का इंतजाम किया जा रहा है। इसके अलावा आइइडी को लेकर चेकिंग, मॉक ड्रिल, किराएदारों का सत्यापन जैसी तमाम चीजें की जा रही है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल CP, लॉ एंड ऑर्डर, दीपेंद्र पाठक ने बताया कि सुरक्षा में किसी तरह की कोई चूक न रहने पाए इसको लेकर तैयारी की जा रही है।

आपको बता दें स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए इस वर्ष सुरक्षा व्यवस्था पिछले साल की तुलना में कहीं ज्यादा अभेद्य होगी। रक्षा मंत्रालय देखरेख में सेना, पैरा मिलिट्री, एनएसजी , एसपीजी, दिल्ली पुलिस सहित तमाम सुरक्षा एजेंसियां 2 माह से चाक-चौबंद सुरक्षा प्रबंध में जुटी हैं। इंडिया गेट से लालकिला तक और प्रधानमंत्री सहित सभी वीवीआइपी के लालकिला आने वाले मार्गों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध रहेंगे। सुरक्षा व्यवस्था में अधिक जवान तैनात रहेंगे। साथ ही तेज क्षमता वाले अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरों की संख्या और जमीन से आसमान में मार गिराने वाले अत्याधुनिक हथियारों की संख्या भी बढ़ा दी गई है।

बता दे की, दिल्ली पुलिस रेलवे स्टेशनं और मेट्रो स्टेशन पर भी अपनी कड़ी नज़र बनाई हुई है , आज़ादी के अमृत मोहत्सव पर दिल्ली को अलर्ट कर दिया गया है। पुलिस अधिकारी के अनुसार, लालकिला के अंदर और बाहर पारा मिलिट्री के कमांडो और जवान तैनात रहेंगे। दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इकाई को भी बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। पहली बार सभी राज्यों के नेशनल कैडेट कोर (NCC) के किशोर भी स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिस्सा लेंगे। उनके बैठने की व्यवस्था इस तरह की गई है, जिससे वे भारत के मानचित्र के रूप में दिखेंगे। अभी तक स्वतंत्रता दिवस समारो में दिल्ली सरकार के स्कूलों के बच्चे ही शामिल होते थे, लेकिन कोरोना (Corona) के कारण 2 साल बच्चों को समारोह में हिस्सा नहीं लेने दिया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.